aadhi aabadi

  • Aug 2 2018 12:40PM

खबरों से अपनी पहचान बनाएं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

खबरों से अपनी पहचान बनाएं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

 पंचायतनामा डेस्क


जेएसएलपीएस की ओर से रांची में कम्युनिटी जर्नलिस्ट का दो दिवसीय रिफ्रेशर प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इसमें कम्युनिटी जर्नलिस्ट को स्क्रिप्ट राइटिंग और फोटोग्राफी की जानकारी दी गयी. इस क्रम में उन्हें प्रभावी संचार के गुर से भी अवगत कराया गया. समापन अवसर पर जेएसएलपीएस के सीइओ परितोष उपाध्याय ने कहा कि कम्युनिटी जर्नलिस्ट खबरें लिखने तक ही खुद को सीमित न रखें, बल्कि इसके जरिए अपनी पहचान भी बनाएं. आपकी खबरों से कई महिलाएं प्रेरित होती हैं. अपनी क्षमता का बेहतर उपयोग करें. आप सभी को बेहतर मंच देने की कोशिश की जा रही है. मौके पर उन्होंने उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली पांच कम्युनिटी जर्नलिस्टस को ट्रॉफी व प्रमाणपत्र देकर सम्मानित किया.

इन्हें किया गया सम्मानित
मुनिया देवी, आशा तिग्गा, ममता देवी, रुबी खातून एवं नयनतारा को सम्मानित किया गया.

10
जिलों में 30 दीदियां हैं कम्युनिटी जर्नलिस्ट
झारखंड के 10 जिलों में 30 कम्युनिटी जर्नलिस्ट हैं. ये दीदियां पंचायतनामा के लिए खबरें लिखती हैं. पिछले एक साल से अधिक वक्त से ये अपने गांव की आजीविका से जुड़ी सकारात्मक खबरों को लिख रही हैं.

यह भी पढ़ें:  अब बीएपी के रूप में अपनी सेवा देंगी अलका
बेहतर संवाद के लिए मिला मोबाइल
राज्य के सुदूरवर्ती इलाके में रहने वाली दीदियां भी कम्युनिटी जर्नलिस्ट के रूप में बेहतर व त्वरित संवाद कर सकें, इसके लिए सभी को मोबाइल दिया गया. रिफ्रेशर प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल राज्य की सभी कम्युनिटी जर्नलिस्ट को प्रमाणपत्र दिया गया.

कमल की ताकत पर है भरोसा : मुनिया देवी
मुनिया देवी कहती हैं कि कलम की ताकत पर उन्हें भरोसा है. इससे उनका आत्मविश्वास बढ़ा है. परिवार के सहयोग से वह काम कर पा रही हैं.

खुशी है कि लोग उनकी खबर पढ़ते हैं : आशा तिग्गा
आशा तिग्गा कहती हैं कि पंचायतनामा में पहली बार जब तस्वीर के साथ खबर छपी, तो बेहद खुशी हुई कि उनकी खबर राज्यभर के लोग पढ़ते हैं.