aamukh katha

  • Oct 1 2018 12:40PM

स्वच्छ झारखंड, स्वस्थ झारखंड

स्वच्छ झारखंड, स्वस्थ झारखंड

 

साफ-सफाई हमारी दिनचर्या में शामिल है. खुद को साफ रखने के साथ-साथ अपने आसपास की सफाई बेहद जरूरी है. केंद्र व राज्य सरकार ने स्वच्छता पर काफी जोर दिया है. यही कारण है कि स्वच्छता ने जनआंदोलन का रूप ले लिया है. स्वच्छता को लेकर राज्य में 15 सितंबर से 02 अक्तूबर तक स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम का आयोजन किया गया.

इसके तहत साफ-सफाई, शौचालय निर्माण तथा उसके सदुपयोग पर विशेष जोर दिया गया. गांवों को स्वच्छ रखने का प्रयास है. इससे एक साथ कई फायदे हैं. साफ-सफाई से तन व मन दोनों स्वस्थ रहेगा, वहीं बीमारियों की संख्या में भी कमी आयेगी. इससे बीमारी पर खर्च होनेवाले पैसों की बचत होगी. आमुख कथा में इस बार झारखंड में स्वच्छता की स्थिति, स्वच्छता को लेकर पंचायतों की भूमिका, टाना भगत व संताल परिवार के सदस्यों की साफ-सफाई को लेकर दिनचर्या एवं स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार समेत कई अन्य पहलुओं को फोकस किया गया है, ताकि झारखंड स्वच्छ होगा, तभी लोग स्वस्थ होंगे.

यह भी पढ़ें:  पढ़ेंगे बच्चे बढ़ेगा गांव, झारखंड का शिक्षा बजट 11181 करोड़

स्वच्छ भारत अभियान

6 फीसदी खुले में शौच से मुक्त था चार साल पहले झारखंड
96
फीसदी खुले में शौच से मुक्त हुआ अब राज्य
38.90
लाख शौचालयों का अब तक हो चुका है निर्माण
09
माह में 14 लाख शौचालयों का हुआ निर्माण
14
लाख शौचालय निर्माण में 01 लाख सखी मंडल, 55 हजार रानी मिस्त्री व 28 हजार जल सहिया का मिला सहयोग
01
लाख से अधिक बच्चे हर साल गंदगी की वजह से होते हैं बीमार

02 अक्तूबर 2018 से 30 जनवरी 2019 तक स्वच्छता जागरूकता कार्यक्रम का अायोजन

खुले में शौच से मुक्त सभी गांव में होगी पेयजलापूर्ति

 

 

सम्मानित महिलाएं :
05
महिलाओं को स्वच्छ भारत मिशन के तहत बेहतर कार्य करने के लिए उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने किया सम्मानित
खूंटी जिले के कर्रा प्रखंड स्थित कच्चाबरी गांव की रानी मिस्त्री किरण देवी ने 46 शौचालयों का किया है निर्माण
धनबाद जिले के बाघमारा प्रखंड अंतर्गत खरखरी गांव की ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति की पिंकी कुमारी ने 449 शौचालयों का निर्माण कराया
बोकारो जिले के चास प्रखंड स्थित बड़ाजोर आजीविका महिला ग्राम संगठन की अध्यक्ष लता देवी ने 195 शौचालयों का निर्माण कराया
पूर्वी सिंहभूम जिला अंतर्गत जुगसलाई में संचालित जसकंडीह ग्रामजल एवं स्वच्छता समिति की जलसहिया विमला समद ने 676 शौचालयों का निर्माण कराया