aapne baat

  • Jan 27 2017 9:11AM

नव वर्ष, टुसू व सोहराय की हार्दिक शुभकामनाएं! : 2017 की 17 किरणें

नव वर्ष, टुसू व सोहराय की हार्दिक शुभकामनाएं! : 2017 की 17 किरणें
नये साल की आप सभी को मुबारकबाद. इस बार पंचायतनामा का जनवरी अंक कैसा हो, इस संबंध में पंचायतनामा की टीम ने कुछ प्रखंडों में जाकर पाठकों से सीधा संवाद किया. टीम ने पंचायत प्रतिनिधियों, राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं, छात्रों, शिक्षकों, महिलाओं से बातचीत की. पाठकों ने बहुत सारे सुझाव दिए. सारे सुझाव पंचायतनामा के लिए महत्वपूर्ण हैं. नये साल में हमारी कोशिश यह होगी कि पंचायतनामा के हर अंक में पाठकों के सुझावों को ध्यान में रखकर खबरें दें. उनकी चाहत के मुताबिक योजनाओं की, गांव व पंचायतों को मिलने वाले बजट की और उनके लिए उपयोगी जानकारियों को उन तक पहुंचायें.
 
साल 2017 का नया अंक आपके हाथों में है. सुझाव के मुताबिक ही इस अंक में हम लोगों ने सामाजिक कल्याण की 17 महत्वपूर्ण योजनाओं की जानकारी देने की कोशिश की है. ये सभी योजनाएं आम लोगों के लिए हैं. लेकिन जानकारी नहीं होने के कारण हम इसका लाभ नहीं ले पाते हैं. योजनाओं के नाम पर हमें मनरेगा, मिड डे मील, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना जैसी बड़ी योजनाओं की ही बहुत ही थोड़ी जानकारी होती है, जबकि ग्रामीण विकास व सामाजिक कल्याण की कई योजनाएं हैं, जिनका लाभ हम बहुत ही आसानी से उठा सकते हैं. इन योजनाओं की जानकारी दूसरे लोगों को देकर उन्हें भी इसका लाभ लेने के लिए प्रोत्साहित कर सकते हैं.
 
पाठकों से बातचीत में यह बात भी निकल कर आयी कि समस्याओं का समाधान कहां हो सकता है, शिकायतों का निवारण कैसे हो सकता है, इस संबंध में भी जानकारी नहीं होने के कारण ग्रामीण परेशान होते हैं. पाठकों से संवाद के दौरान यह तथ्य भी सामने आया कि राज्य स्तर पर शिकायत निवारण के लिए एक नंबर 181 है. इस नंबर पर भी ग्रामीण शिकायत नहीं करते हैं क्योंकि उन्हें इस बात की पूरी जानकारी नहीं है. उन्हें इस बात का भरोसा ही नहीं हो पाता है कि कोई उनकी शिकायत इतनी आसानी से सुन सकता है और कार्रवाई भी हो सकती है. यहां तक िक पंचायत प्रतिनिधि भी इस व्यवस्था से अंजान हैं. प्रसंगवश आपको बता दूं कि रांची के इटकी में हम पाठकों से बातचीत कर रहे थे. पाठकों में कुछ पंचायतों की महिला मुखिया, प्रखंड प्रमुख, उप मुखिया भी मौजूद थे. जब उनसे 181 नंबर के संबंध में जानकारी मांगी थी, उन्हें इस संबंध में जानकारी तो थी, लेकिन उन्होंने कभी इसका प्रयोग नहीं किया था. वहां बातचीत के दौरान ही रांची जिला परिषद के पूर्व सदस्य मकसूद आलम ने 181 नंबर लगाकर एक पंचायत की जलमिनार की मोटर खराब होने की शिकायत दर्ज करवायी. शिकायत दर्ज करवाने का तरीका इतना आसान है,  यह देखकर पंचायत प्रतिनिधियों में आश्चर्य का भाव था.
 
पंचायतनामा 2017 में अपने पाठकों को वह सब जानकारी देने का प्रयास करेगा, जिससे उनकी जिंदगी थोड़ी आसान हो सके. सरकार हमारे लिए जो व्यवस्था बना रही है, उन व्यवस्थाओं से हम क्या लाभ उठा सकते हैं. यह जानना आज बहुत ही जरूरी है.
 
पंचायतनामा का यह अंक आपको कैसा लगा, हमें जरूर बताइएगा. हमें आप ई मेल, मोबाइल, व्हाट्सअप पर भी अपनी प्रतिक्रिया या सुझाव भेज सकते हैं. आप मोबाइल वाणी के नंबर पर भी मिस्ड कॉल करके अपनी समस्या, सुझाव या अपनी कोई भी सार्वजनिक हित की बात रिकार्ड करा सकते हैं.
 
नमस्कार,
संजय मिश्र
ई-मेल : panchayatnama@prabhatkhabar.in
फोन नंबर : 0651-3053131
व्हाट्सएप नंबर : 97714 75678