badte gaao

  • Nov 20 2017 11:47AM

जरूरतमंदों के लिए वरदान बन रहा ग्रामीण अनाज बैंक

जरूरतमंदों के लिए वरदान बन रहा ग्रामीण अनाज बैंक
पंचायतनामा डेस्क
बोकारो जिले के बुंडू पंचायत में ग्रामीण अनाज बैंक की स्थापना की गयी है. इसके जरिये जरूरतमंदों को अनाज दिया जा रहा है. इसके माध्यम से वैसे लोगों को भी अनाज मिलता है, जिनका राशन कार्ड नहीं बन पाया है. 19 सितंबर, 2016 को ग्रामसभा के दौरान अनाज बैंक के गठन का प्रस्ताव पारित किया गया था. बुंडू के युवा मुखिया अजय कुमार सिंह की इसमें अहम भूमिका रही है.

वर्तमान में इस पंचायत के अनाज बैंक में तकरीबन 22 क्विंटल अनाज है. अनाज बैंक के सदस्यों को जरूरत पड़ने पर 30-100 किलोग्राम अनाज दिया जाता है, जिसे वे प्रत्येक माह एक किलोग्राम करके बैंक को वापस भी करते हैं. वर्तमान में अनाज बैंक के माध्यम से एक वृद्ध महिला को प्रत्येक माह 10 किलोग्राम राशन दिया जा रहा है. वहीं, अनाथ भाई व दो बहनों को भी 15 किलोग्राम अनाज दिया जा रहा है. 
 
केस स्टडी
चिंता देवी के परिजनों को मिला अनाज
बुंडू पंचायत के गागी गांव की विधवा चिंता देवी ने अनाज बैंक से अनाज देने को लेकर मुखिया अजय कुमार सिंह को आवेदन दिया था. इसमें ससुर के देहांत होने और श्राद्धकर्म के लिए अनाज बैंक से 50 किलो अनाज देने का आग्रह किया गया था. मुखिया ने इसे गंभीरता से लेते हुए राशन डीलर को 50 किलो अनाज देने की अनुशंसा की. चिंता देवी ने अपने आवेदन में कहा था कि वह हर महीने अनाज बैंक में एक किलोग्राम अनाज जमा करायेंगी. मुखिया की अनुशंसा पर चिंता देवी के परिजन को राशन डीलर द्वारा 50 किलोग्राम अनाज मुहैया करा दिया गया.
 
ग्रामसभा का निर्णय ऐतिहासिक : मुखिया
मुखिया अजय कुमार सिंह कहते हैं कि भूख एवं आपदा से निपटने के लिए लोगों को आत्मनिर्भर बनाने को लेकर खाद्यान्न के मामले में ग्रामसभा का अनाज बैंक का यह निर्णय ऐतिहासिक है. अनाज बैंक में सदस्यों द्वारा जमा अनाज के अलावा एक क्विंटल अनाज अन्य लोगों के द्वारा भी दान स्वरूप उपलब्ध कराया गया है. ग्रामसभा का यह निर्णय राज्य के अन्य पंचायतों को राह दिखाने का काम करेगा. मुखिया अजय कुमार कहते हैं कि विकट स्थिति के लिए पहले सभी पंचायतों में 10 क्विंटल अनाज रहता था. अब ऐसी व्यवस्था नहीं है. सरकार को चाहिए कि पूर्व की व्यवस्था दोबारा शुरू की जाये, ताकि अनाज की कमी से किसी की मौत न हो. उन्होंने कहा कि इस संबंध में वह सरकार को सुझाव भी भेजेंगे.