Community reporter

  • Jan 3 2020 4:12PM

वित्तीय साक्षरता से जागरूक हुईं आशा

वित्तीय साक्षरता से जागरूक हुईं आशा

मुनिया देवी
प्रखंड: डुमरी
जिला: गिरिडीह 

गिरिडीह जिले के डुमरी प्रखंड अंतर्गत जामतारा पंचायत स्थित बेड़वा गांव की रहनेवाली आशा वित्तीय साक्षरता का प्रशिक्षण लेकर अब अपने गांव, ग्राम संगठन और कलस्टर संगठन की सखी मंडल और ग्रामीणों को जागरूक कर रही हैं. इसके साथ बीएमएमयू डुमरी, सीसी और बैंक सखियों को वित्तीय साक्षरता के बारे में चार्ट के माध्यम से विस्तारपूर्वक समझा रही हैं. वित्तीय साक्षरता के बारे में समझाते हुए आशा बताती हैं कि वे कैशलेस बैंकिंग सेवा को अपनाएं. वित्तीय नियोजन के अनुसार खर्च की योजना बनायें, ताकि अपनी सुविधा अनुसार बैंकिंग कार्य कर सकें और उसके अनुसार खर्च कर सकें. आकस्मिक घटनाओं से बचाव के लिए बीमा के माध्यम से बचत करना चाहिए, ताकि बुरे वक्त में पैसों की कमी न हो.

यह भी पढ़ें: जोहार से महिलाओं के लिए आसान हुआ मछली पालन

उन्होंने कहा कि हमें उधार भी समझदारी से लेना चाहिए, ताकि कर्ज के बोझ से भी बच सकें. अधिक से अधिक बचत करने की कोशिश करना चाहिए. भविष्य के लिए भी बचत करके चलना चाहिए. आशा बताती हैं कि कई बार बिना वित्तीय नियोजन के अधिक कर्ज लेने से जीवन में बुरी परिस्थितियों से भी गुजरना पड़ सकता है. यही कारण है कि सभी को वित्तीय साक्षरता की जानकारी होनी चाहिए. आशा के साथ सखी मंडल की दो और दीदियां भी प्रशिक्षण के दौरान सहयोग करती हैं. आशा और दोनों महिलाओं को प्रशिक्षण देने के बदले 500 रुपये मिलते हैं. इससे उन्हें आमदनी भी हो रही है और समाज में एक अलग पहचान भी मिल रही है. वित्तीय साक्षरता की जानकारी पाने के बाद ग्रामीण महिलाएं काफी खुश हुईं.