gound zero

  • Aug 3 2018 9:46AM

दिव्यांग के घर राशन पहुंचाते हैं दिव्यांग डीलर मुकेश

दिव्यांग के घर राशन पहुंचाते हैं दिव्यांग डीलर मुकेश

पंचायतनामा डेस्क

गांव : अंबाडीपा

पंचायत : सिल्वे
प्रखंड : नामकुम
जिला : रांची


जनवितरण प्रणाली के दुकानदार (राशन डीलर) का नाम सुनते ही जेहन में अक्सर नकारात्मक तस्वीर तैरने लगती है. कम मात्रा में राशन देनेवाला, अनियमित राशन की आपूर्ति करनेवाला और राशन देने के लिए बार-बार बुलाकर परेशान करनेवाले दुकानदार की धूमिल छवि चेहरे के आगे दिखाई पड़ने लगती है. इन सबके बीच राजधानी रांची के नामकुम प्रखंड स्थित सिल्वे पंचायत के अंबाडीपा के राशन डीलर दिव्यांग मुकेश कुमार उम्मीद की रोशनी हैं. वे नयी छवि पेश कर रहे हैं. आप यकीन नहीं करेंगे, लेकिन वो दिव्यांग लाभुकों को उनके घर जाकर राशन की आपूर्ति कर रहे हैं.

पिछले पांच माह से हैं राशन डीलर
मुकेश कुमार खुद दिव्यांग हैं, लेकिन उनका हौसला इस कदर बुलंद है कि शारीरिक रूप से सक्षम लोग भी उनके जुनून के आगे घुटने टेक देते हैं. सामाजिक रूप से सक्रिय मुकेश पिछले पांच माह से राशन डीलर के रूप में कार्य कर रहे हैं. 272 लाभुकों को राशन की आपूर्ति की जाती है. इनमें 20 लाभुक दिव्यांग हैं. अब तक वह 17 दिव्यांगों का राशन कार्ड भी बनवा चुके हैं.

पांच दिव्यांगों को घर जाकर देते हैं राशन
मुकेश दिव्यांग स्वाभिमान मंच, टाटीसिल्वे के सचिव भी हैं. सामाजिक सरोकार से जुड़े रहते हैं. सिल्वे पंचायत के पांच दिव्यांगों को वह उनके घर जाकर राशन देते हैं. चलने-फिरने में असमर्थ लाभुकों को परेशानी न हो, इसके लिए वो खुद ही उनके घर जाकर राशन दे देते हैं. सुकरो देवी और उनका पुत्र निहुर राम दोनों नेत्रहीन हैं. मुकेश ने उन्हें घर जाकर 35 किलो चावल व 2 लीटर केरोसिन उपलब्ध कराया. पहले इनके पास राशन कार्ड भी नहीं था. मुकेश के प्रयास से ही नेत्रहीन मां-बेटे को कुछ दिनों पूर्व पीला राशन कार्ड मिल पाया