gram savraj

  • Oct 25 2017 12:27PM

प्रभात खबर की विशेष पहल: सीताडीह के ग्रामीणों को मिला दीपावली का तोहफा

प्रभात खबर की विशेष पहल: सीताडीह के ग्रामीणों को मिला दीपावली का तोहफा
पंचायतनामा डेस्क
दीपों के त्योहार दीपावली से पूर्व तोहफा पाकर प्रभात खबर द्वारा गोद लिये गये गांव सीताडीह (अनगड़ा, रांची) के ग्रामीणों के चेहरे खिल उठे. सीताडीह गांंव के छह टोले के करीब दो सौ परिवारों के बीच कार्यक्रम का आयोजन कर दीपावली का उपहार दिया गया. हर परिवार को एक-एक पैकेट मिठाई भी दी गयी. इस दौरान मिठाई पाकर बच्चे काफी खुश दिखे. कार्यक्रम में सीताडीह के अलावा हराहंगा, बनटोली, सराइवन, गोंझूटोली व बेल टोली के ग्रामीण उपस्थित थे. कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रभात खबर के प्रधान संपादक आशुतोष चतुर्वेदी ने कहा कि सीताडीह गांव हमारा परिवार है. दीपावली के इस त्योहार में हम परिवार के साथ खुशियां बांट रहे हैं. सभी स्वस्थ रहें, इसी उद्देश्य से ग्रामीणों को आवश्यक सामान दिये गये हैं. 

प्रभात खबर के एमडी केके गोयनका ने कहा कि प्रभात खबर हमेशा से समाज के साथ चलने वाला अखबार है. विकास की दौड़ में हम सीताडीह गांव को आगे ले जाने का प्रयास कर रहे हैं. वरिष्ठ संपादक अनुज कुमार सिन्हा ने गांव के बच्चों को जीवन में आगे बढ़ने के कई महत्वपूर्ण टिप्स दिये. इस अवसर पर प्रभात खबर के कार्यकारी निदेशक आरके दत्ता, स्थानीय संपादक विजय पाठक, बिजनेस हेड विजय बहादुर, ग्राम प्रधान राजेश बेदिया, वार्ड सदस्य प्रदीप बेदिया, पूर्व वार्ड सदस्य बुधराम बेदिया, जयनंदन कच्छप, रमा देवी समेत काफी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे.
 
आदर्श गांव बनाने की विशेष पहल : सीताडीह को एक आदर्श गांव बनाने के लिए प्रभात खबर ने इसे गोद लिया है. गांव की महिलाओं को तकनीकी प्रशिक्षण देकर उन्हें रोजगार से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है. गांव के युवाओं को रोजगारपरक शिक्षा दिलाने की बात कही जा रही है. ग्रामीणों की मांग पर जल्द ही गांव में एक कंप्यूटर प्रशिक्षण केंद्र खुलेगा. 

इसके अलावा जो युवक-युवतियां आठवीं तक पढ़ायी करके छोड़ चुके हैं, उन्हें भी उनकी योग्यता के अनुसार प्रशिक्षण देने का प्रयास प्रभात खबर के द्वारा किया जायेगा. प्रभात खबर द्वारा इस गांव को गोद लिये तीन महीने ही बीते हैं, लेकिन इन तीन महीनों में विकास को लेकर गांव में कई महत्वपूर्ण कार्य हुए हैं. गांव में विकास कार्यों को देख ग्रामीण भी काफी खुश और उत्साहित हैं.
 
मूलभूत समस्याओं का होता समाधान : दीपावली का तोहफा पाकर काफी खुश दिखे ग्रामीणों का कहना है कि प्रभात खबर ने उनकी मूलभूत समस्याओं की ओर विशेष ध्यान दिया है. सोलर लैंप और वाटर प्यूरीफायर मिलने के संबंध में ग्रामीण कहते हैं कि अब बिजली नहीं रहने पर भी उन्हें परेशानी नहीं होगी. बच्चों को अंधेरे में नहीं पढ़ना पड़ेगा. अब शुद्ध पीने का पानी भी मिल सकेगा.

ग्रामीणों की सोच में आया बदलाव : बरवादाग पंचायत के मुखिया सीताराम पातर ने कहा कि पिछले तीन महीने में गांव में विकास कार्यों में तेजी आयी है. लोगों की सोच में बदलाव आया है. लोग काफी जागरूक भी हुए हैं. प्रभात खबर गांव को गोद लेकर गांव की दशा व दिशा बदलने में अहम भूमिका निभा रहा है. गोद लिये सीताडीह गांव की ओर अखबार का विशेष ध्यान रहने का ही नतीजा है कि दीपावली से पहले ही यहां के ग्रामीणों के चेहरे खिल उठे हैं.

इन सामग्रियों का हुआ वितरण
ग्रामीणों को सोलर लैंप, वाटर प्यूरीफायर, बच्चों के स्कूल बैग व पेंसिल बॉक्स, मेडिकेटेड मच्छरदानी और फर्स्ट एड बॉक्स दिये गये. कार्यक्रम के दौरान मौजूद सभी ग्रामीणों को सोलर लैंप के रख-रखाव और उसके बेहतर इस्तेमाल के तरीके बताये गये, ताकि इसके उपयोग में ग्रामीणों को कोई परेशानी न हो. इस दौरान वाटर प्यूरीफायर को एसेंबल करने और इस्तेमाल करने के तरीके भी बताये गये.
 
सीताडीह गांव की स्थिति
बरवादाग पंचायत अंतर्गत सीताडीह गांव अनगड़ा प्रखंड का एक पिछड़ा गांव है. राजधानी रांची से करीब 45 किलोमीटर की दूरी पर यह गांव बसा है. सात टोले और करीब एक हजार की आबादी वाले आदिवासी बहुल इस गांव में डेढ़ सौ घर हैं. शिक्षा और स्वास्थ्य यहां के लोगों के लिए कोरा सपना रहा है. कुछ एक घरों को छोड़ कर अन्य घरों से बिजली आज भी दूर है. गांव के लोग खेती पर निर्भर हैं, लेकिन सिंचाई की व्यवस्था अभी भी परंपरागत ही है. गांव में पीने के पानी के लिए भी अधिकतर लोग आज भी परंपरागत संसाधनों पर ही निर्भर हैं. इस लिहाज से प्रत्येक परिवार को वाटर प्यूरीफायर मिल जाने से अब ग्रामीणों को पीने के लिए शुद्ध पानी मिल रहा है. जिनके घर आज तक बिजली से रोशन नहीं हुए, उनके घर अब सोलर लैंप से रोशन हो गये हैं.