ssakshtkaar

  • Aug 21 2017 1:55PM

प्रभात खबर झारखंड कन्क्लेव 2017 में केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा, पंचायतनामा कर रहा बदलाव की पत्रकारिता

प्रभात खबर झारखंड कन्क्लेव 2017 में केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा, पंचायतनामा कर रहा बदलाव की पत्रकारिता
राजधानी रांची के रेडिशन ब्लू होटल में प्रभात खबर की ओर से झारखंड कॉन्क्लेव 2017 का आयोजन हुआ. इस अवसर पर पंचायतनामा वेबसाइट की लांचिग भी हुई. मौके पर केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने पंचायतनामा के माध्यम से गांव-पंचायत की खबरें आप तक पहुंच रही है, यह एक बेहतर पहल है. जो लोग यह कहते हैं कि जमीन पर कार्य नहीं हो रहा है, उन्हें पंचायतनामा पढ़ना चाहिए. 
 
आपको पंचायतनामा में बदल रहे गांवों की तसवीर दिख जायेगी. साथ ही उन गांव-पंचायतों की भी चर्चा होती है, जो या तो बदलाव की बाट जोह रही है या फिर बदलाव को लेकर आतुर है. केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने कहा कि पंचायतनामा गांवों के सरोकार की पत्रकारिता कर रहा है. इससे गांव के लोग जागरूक होंगे और इसके दूरगामी परिणाम भी देखने को मिलेगा. पंचायतनामा में खबरों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि यही वो बदलाव की तसवीर है, जो लोग देखना चाहते हैं और लोगों को यह पढ़ना चाहिए. उन्होंने कहा कि गांव की खबरों को दैनिक अखबार में जगह नहीं मिल पाती है, लेकिन पंचायतनामा गांव और ग्रामीणों का अखबार है और उनकी भावनाओं और उनकी बातों को एक मंच प्रदान करता है. 
 
कृषि मंत्री ने कहा कि पंचायतनामा सकारात्मक पत्रकारिता का जीता-जागता उदाहरण है. सरकारी योजनाओं के संदर्भ में केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि सरकार योजनाएं तो लाती हैं, लेकिन अधिकारियों की इच्छाशक्ति के अभाव में कई योजनाएं यूं ही दम तोड़ देती है या फिर ग्रामीणों तक सही रूप में पहुंच नहीं पाती है. ऐसी स्थिति में गांव-पंचायतों की यह अखबार लोगों को योजनाओं के बारे में जागरूक करती है, ताकि लोग अपने अधिकारों को जान सके और उसका सही-सही रूप में इस्तेमाल कर सके. केंद्र व राज्य सरकार की हमेशा कोशिश है कि लोग आत्मनिर्भर बनें और इस काम में पंचायतनामा का भी अहम योगदान देखने को मिल रहा है