yojana

  • Oct 2 2018 11:53AM

आयुष्मान भारत योजना : इलाज के लिए अब नहीं खर्चने पड़ेंगे पैसे

आयुष्मान भारत योजना : इलाज के लिए अब नहीं खर्चने पड़ेंगे पैसे

पंचायतनामा डेस्क

देश के गरीबों को बेहतर इलाज की सुविधा मिले और इलाज के अभाव में किसी गरीब की मौत नहीं हो, इस उद्देश्य से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रांची के प्रभात तारा मैदान से आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ किया. देश के 50 करोड़ से ज्यादा लोगों को इस योजना का लाभ मिलेगा. इसके तहत लाभुक 1350 प्रकार की गंभीर बीमारियों का इलाज देश के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में करा सकेंगे. फिलहाल देश के 13 हजार अस्पताल इस योजना के तहत जुड़ चुके हैं.

समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचेगी योजना : रघुवर दास
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना आयुष्मान भारत के शुभारंभ के मौके पर कहा कि राज्य की सवा तीन करोड़ जनता के लिए सौभाग्य की बात है कि दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना आयुष्मान भारत की शुरुआत झारखंड से हुई है. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के लिए यह पल ऐतिहासिक है. योजना के शुरू होने से अब किसी गरीब या किसान को इलाज के लिए अपनी जमीन नहीं बेचनी पड़ेगी. योजना के तहत राज्य के 57 लाख गरीब परिवारों को इसका लाभ मिलेगा, जो परिवार खाद्य सुरक्षा कार्यक्रम से जुड़े हुए हैं तथा जिनके पास राशन कार्ड है. केंद्र की सभी योजनाएं गरीबों को ध्यान में रखकर बनायी गयी हैं. आयुष्मान योजना, प्रधानमंत्री जन-धन योजना, उज्ज्वला योजना, सौभाग्य योजना या फिर खुले में शौच से मुक्त, स्वच्छता योजना, ये सारी योजनाएं इस सोच के साथ लागू की गयी हैं कि समाज के अंतिम व्यक्ति की जिंदगी में बदलाव आये और उन्हें इसका लाभ मिले. उन्होंने कहा कि पिछले 67 साल में जहां सिर्फ तीन मेडिकल कॉलेज रहे, वहीं मोदी सरकार में राज्य को पांच नये मेडिकल कॉलेज मिले हैं, जिनमें से दो का शिलान्यास हो रहा है. 67 सालों तक राज्य में एमबीबीएस की 350 सीटें थी, जो अब बढ़ कर 1200 हो गयी हैं. अब राज्य के बच्चों को इसकी पढ़ाई के लिए दूसरे राज्यों में नहीं जाना पड़ेगा. इस दौरान चाईबासा एवं कोडरमा में मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास तथा 10 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर का शुभारंभ भी किया गया.

कैसे उठाएं इस योजना का लाभ
जो परिवार खाद्य सुरक्षा कार्यक्रम से जुड़ा है. उस परिवार को सूचीबद्ध अस्पताल में जाना होगा. इसकी सूची सरकार सार्वजनिक करेगी. सभी सूचीबद्ध अस्पतालों में आयुष्मान भारत के लाभुकों के लिए अलग काउंटर होगा. वहां लाभुकों की सहायता के लिए एक आयुष्मान मित्र भी होगा. इस काउंटर से लाभुक परिवार को सुविधाएं मिलेंगी. इस योजना के तहत अस्पताल में रहने, खाने और दवा का खर्च भी सरकार के द्वारा वहन किया जायेगा. योजना के संबंध में किसी भी प्रकार की शिकायत या जानकारी के लिए टॉल फ्री नंबर 14555 पर संपर्क किया जा सकता है.