yojana

  • Nov 2 2018 5:00PM

अनुसूचित जनजाति के विद्यार्थियों के लिए स्कॉलरशिप का अवसर

अनुसूचित जनजाति के विद्यार्थियों के लिए स्कॉलरशिप का अवसर

अनुसूचित जनजाति के वैसे विद्यार्थी, जो उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं, उनके लिए केंद्र सरकार की ओर से फेलोशिप व स्कॉलरशिप देने की व्यवस्था की गयी है. अनुसूचित जनजाति वर्ग के ऐसे सभी विद्यार्थी, जिनकी पारिवारिक आय अधिकतम छह लाख रुपये तक हो, इस योजना के लिए पात्र होंगे. यह योजना जनजातीय कार्य मंत्रालय, भारत सरकार के द्वारा नेशनल फेलोशिप एंड स्कॉलरशिप फॉर हायर एजुकेशन ऑफ शेड्यूल्ड ट्राइब स्टूडेंट्स योजना लायी गयी है. अनुसूचित जनजाति वर्ग के विद्यार्थियों को यह सुविधा दिलाने में झारखंड सरकार का कल्याण विभाग सहयोग कर रहा है. इस योजना का लाभ केंद्र सरकार द्वारा चुने गये 246 संस्थानों में अध्ययन के लिए लिया जा सकता है. योजना के तहत अनुसूचित जनजाति के छात्रों को उच्च शिक्षण संस्थानों में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा राशि मुहैया करायी जायेगी. पढ़ाई, रहने, कंप्यूटर खरीदने तथा किताब-कॉपी खरीदने के लिए राशि का वहन केंद्र सरकार करेगी.

योजना के अंतर्गत देय आर्थिक सहायता
शैक्षणिक शुल्क के लिए : सरकारी एवं सरकारी सहायता प्राप्त संस्थान का ट्यूशन फीस एवं गैर वापसी योग्य शुल्क की राशि रिंबर्स कर दी जायेगी( प्रतिपूर्ति). निजी क्षेत्र के संचालित संस्थानों में प्रति छात्र प्रति वर्ष अधिकतम ढाई लाख तक शैक्षणिक शुल्क के रूप में देय राशि रिंबर्स की जायेगी. पुस्तक इत्यादि पर खर्च के लिए 3000 रुपये प्रति छात्र प्रति वर्ष दिये जायेंगे. कंप्यूटर अथवा लैपटॉप इत्यादि उपकरण खरीदने के लिए संपूर्ण पाठ्यक्रम अवधि के दौरान मात्र एक बार 45,000 रुपये दिये जायेंगे, इसमें कंप्यूटर से संबंधित सभी सहायक उपकरण सम्मिलित होंगे.

योजना के तहत चयनित संस्थान
इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा चुने गये 246 संस्थानों में शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं. चुने गये संस्थानों में 22 आइआइटी, 30 एनआइटी, 24 ट्रिपल आइआइटी, 03 स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड आर्किटेक्ट, 19 आइआइएम, 13 नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, 07 एम्स, 16 एनआइएफटी, 07 टीआइएसएस और 19 इंस्टीट्यूट ऑफ होटल, कैटरिंग एंड न्यूट्रिशन सहित 89 अन्य संस्थानों में शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं.

निर्वाह खर्च
योजना के तहत लाभ प्राप्त करनेवाले छात्रों को निर्वाह खर्च के लिए प्रत्येक छात्र 2200 रुपये प्रतिमाह दिये जायेंगे या फिर वास्तविक व्यय या अधिकतम 26,400 रुपये प्रतिवर्ष दिये जायेंगे.

कहां करें आवेदन
अनुसूचित जनजाति वर्ग के विद्यार्थी अगर इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो आपको केंद्र सरकार के छात्रवृत्ति पोर्टल www.scholarship.gov.in पर जाकर आवेदन करना होगा.